वॉचमन ने मालकिन को चोदा

923

हवस से भारी चाची हमेशा सींग का बना हुआ है और हर समय सेक्स करना चाहती है। एक बार जब उसका पति चला जाता है, तो वह अकेली रह जाती है और उसका सेक्स करने का बोहुत मन होता है .वो थोड़ी देर अपने चूत मे हस्तमैथुन करती है पर उसका इस से मान नही भरता है तभी उसको वॉचमान का ख़याल आता है वो उसे आवाज़ देकर अंदर बुलाती है .और उसे गंदे इशारे करती है चाची बिना ब्रा और अंडरवेर के साथ सिर्फ़ गाउन पर सोफे पर बैठी रहती है .चाची के बूब्स लटक रहे थे .जैसे वतचमान अंदर आता है चाची उसे चूमने लगती है तभी वॉचमन का लंड टाइट होता है पॅयंट की चैन चाची खोलकर ब्लोवजोब देती है लंड बोहुत सकत और मोटा होता है वॉचमन उसे छोटी वेश्या की तरह उसे चूसने के लिए कहता है जो वह है और लगातार उसे अंदर ले जाती है।वे कठिन और तेज बकवास करना शुरू करते हैं। वह खुद को अपवित्र होने की लालसा में चिल्लाते हुए अपनी चूत की दीवारों को फाड़ देती है। जैसे-जैसे वह उसके अंदर और बाहर पंप करता है, वह उसे कोई दया नहीं दिखाता है और अपनी सभी इंद्रियों को उखाड़ फेंकने के लिए उसे पकड़ना शुरू कर देता है और उसे पूरी तरह से नियंत्रण में लाता है ताकि वह जान सके कि असली मालिक कौन है।